अनुरोध (My Insistence For You)

अनुरोध (My Insistence For You)
- Kaushalya
तुम अपना जीवन शुद्ध जीना ,
तुम्हारी राह में जो कोई भी आए,
और मदद का हाथ फैलाये,
तो उसकी मदद करना ऐ दोस्त,
चाहे बस यही एक वादा तुमसे,
दे दो या ठुकरा दो हमारी गुजारिस को,
शिकवा नही करेंगे कोई तुमसे,
ये जीवन है कुंदन जैसा ,
गवाना मत्त उसे, क्योंकि....
कल ये मौका फ़िर मिले न मिले।
~*~

Comments

Popular posts from this blog

प्राचीन भारतीय आर्य भाषा की विशेषताएं

संस्कृत भाषा के शब्द भंडार से सम्बंधित बातें

इम्तिहान