पॉवर ऑफ वायब्रेशन्स

मेरे  साथियों हो सकता है मेरी बात आपको विचित्र भी लगे तथापि यह सत्य की ताकत है। मेरी स्वयं की रोजाना की अनुभूति है..!! जी हाँ...!! वायब्रेशन...!! वायब्रेशन... में बेहद की ताकत होती है, है ही...!! क्या है जीवन तथा क्या है मनुष्य की जिंदगी...?? केवल वायब्रेशन का ही तो खेल है। वायब्रेशन ही तो दुवा भी देते है..., बद दुवा भी देते है.. जलसी भी देते है.. अपयश भी देते है.. यश भी..! ताकत भी देते है.. कमजोरी भी..!! बीमारी भी देते है.. ठीक भी करते है...! जिंदगी भी देते है.. मौत भी...!! जी,बिल्कुल कटु सत्य...!! जिससे सारी दुनिया अनभिज्ञ है।

दुनिया केवल देह व देह की बाते जानती है। देह से परे नहींं। परन्तु सारा जीवन का खेल तो देह से परे दुनिया के असर से ही प्रभावित है..!! मनयुष्य के मन के विचार उसकी पंचेन्द्रियों द्वारा सदैव बाहर अर्थात देह से बाहर निकलते ही रहते है। वो फिर निकलकर जिसके संपर्क में आते है उनके साथ निकल जाते है।
   
विचार शक्ति ही तो आत्मा की प्रमुख शक्ति होती है। जो संकल्प, संस्कार, कर्म व बुद्धि की परिचायक होती है..!! जो पूर्व जन्म कर्म व संस्कार से सदैव प्रभावित होती है। परिणामता अगर किसी ने भी अगर आपको या आपने किसी को इस जन्म में या इसके पहले 84 जन्मों में किसी भी तरह का कष्ट, दुख दिया हो तो भी तब से लेकर आज तक वो आत्मा आपकी या आप उस आत्मा की तलाश में जन्म जन्म तक ढूंढते रहते हो..!! जिस दिन या जिस पल आमने सामने मुलाकात हो तो वो समस्त वायब्रेशन आप मेंं आ ही जाते है। अच्छे हो तो अच्छा असर.. बुरे हो तो बुरा असर...!! यही तो जिंदगी है..!

वाह जिंदगी वाह..!! तो चलिए ये तो पता चला कि वायब्रेशन में इतनी ताकत है, तो क्योंं न इन वायब्रेशन्स का अच्छा, सही इस्तेमाल करे ..!! क्योंं न दुनिया को बुराई, दुख, पीड़ा से बचाने के लिए हम भी फ्री में केवल मन से, घर बैठे कुछ योग दान करे...!! तो कैसे करे आइए जानिएगा...

फोटो अथवा विडियो द्वारा वायब्रेशन भेजने की सेवा  .....

  1. हमारे टूटे हुए नाखून में, बालों में, त्वचा में, शरीर के मैल में, लार  में, पसीने इत्त्यादी में भी हमारे वायब्रेशन भरे होते है और ये वायब्रेशन कई सालों तक अथवा लंबे समयतक उसमेंं मौजूद रहते है।
  2. हमारे ये वायब्रेशन दुनिया में सबसे यूनिक होते है। जैसे, हमारे फोन नंबर जैसा सेम नंबर पूरी दुनिया में और किसीका भी नहींं हो सकता, वैसे हर आत्माओं से निकलते वायब्रेशन उसकी Unique Identity है।
  3. हमारा चेहरा, त्वचा, बाल, DNA, आवाज, आंखों की पुतलियां, खून इत्त्यादी सब कुछ दुनिया में यूनिक है अर्थात उस जैसा हू-ब-हू सारे जहान में किसी और का हो ही नहींं सकता।
  4. विज्ञान ने बनाए कॅमेरा द्वारा खिंची गई फोटो में भी हमारे वायब्रेशन छुपे होते है  (हाथ से बनाई पेंटिंग में नहींं होते उसमेंं बनाने वाले पेंटर के वायब्रेशन होते है) कॅमेरा द्वारा फोटो खिंचते समय हमारी जैसी स्थिति होती है अथवा मन में जो भाव होते है वह भाव के वायब्रेशन उस फोटो में भर जाते है।
  5. फोटो हमारा फोन नंबर है, फोटो हमारा एड्रेस (पता) भी  है। फोटो द्वारा आप सामने वाली आत्मा से सहज रीती अपनी मन की बात शेयर कर सकते है।
  6. फोटो द्वारा आप सामने वाली बिमार, अपघात ग्रस्त आत्माओं तक वायब्रेशन प्रसारित कर सकते है । आरोग्यदायी Healing एनर्जि भेज सकते है वैसे ही जैसे Reiki करने वाले किसी व्यक्ति का फोटो देखकर वायब्रेशन द्वारा उसकी बीमार को ठीक करते है।
  7. संकट में फँसी किसी व्यक्ति का फोटो आपके पास हो तो आप परमात्मा से कंबाइंड अर्थात योग लगाकर शक्तिशाली वायब्रेशन भेजकर उन्हें सहयोग भी पहुंचा सकते है।
  8. आपके पास जिसका भी चित्र या जिसका फोटो है उस आत्मा के वायब्रेशन निरंतर उस फ़ोटो के अंदर से प्रवाहित होते रहते है।
  9. निराकार परमात्मा को ज्योतिर्बिन्दु रूप फ़ोटो में तैयार कर उसे  घर की दिवार पर टंगाने से तथा सदैव उससे योग लगाने से उस फोटो द्वारा निरंतर शुद्ध ऊर्जा का प्रवाह उस घर में बहता रहता है।
  10. फोटो समान विडिओ में भी हमारे वायब्रेशन भरे होते है और किसी विडिओ द्वारा भी हम सामने वाली आत्माओ तक अपने वायब्रेशन भेज सकते है।
  11. आप घर बैठे TV पर न्यूज देखते हुए भी अपने सहयोग के वायब्रेशन भेजकर किसी बाढ़ ग्रस्त, भूकंप ग्रस्त एरिया में वायब्रेशन भेजकर उन तक स्थूल रीति से मदत पहुंचा सकते है।
  12. जब हम सच्चे दिल से परमात्मा को याद करते है तब जैसे उनकी कृपा या मिलन को हम अनुभव करते है वैसे ही हमारी दुआएं हम घर बैठे दे सकते है।
  13. हम आत्माए भी TV पर न्यूज देखते हुए TV की तरफ देखकर उस स्थान में फँसी हुई आत्माओं को बल प्रदान कर सकते है, सहयोग दे सकते है, शांति का दान दे सकते है। यह बातें थोड़ी अनोखी जरूर है परंतु पूर्णतः सत्य और प्रेक्टिकल है।
  14. अगर आपके पास किसी व्यक्ति अथवा स्थान का फोटो या वीडियो नहीं भी हो तब भी आप जानी जाननहार परमात्मा पिता से कनेक्ट होकर उस  स्थान में फसी आत्माओ को सहयोग कर सकते है।

*************************
ओम शांति

- वृषाली सानप काले

Comments

Popular posts from this blog

प्राचीन भारतीय आर्य भाषा की विशेषताएं

संस्कृत भाषा के शब्द भंडार से सम्बंधित बातें

इम्तिहान