ऐ जिंदगी

ऐ जिंदगी
तुमने जो भी दिया
हमने आँचल में लिया...!!

ऐ जिंदगी
तुमने जैसा भी दिया
हमने वैसा ही लिया..!!

ऐ जिंदगी
तुझसंग ही जी लिया
न कोई शिकवा किया..!!

ऐ जिंदगी
बस प्रेम ही तो किया
बस प्रेम ही तो दिया..!!

ऐ जिंदगी
तुझ गुलाब की पंखुड़ियां
सँझोने में हर पल गया..!!

ऐ जिंदगी
जन्मो की सौगात को न लिया
तेरे दामन में अमृत पी लिया..!!

ऐ जिंदगी
गर्व तुझपर सदा  है किया
सलाम झुककर है किया..!


  • - वृषाली सानप काले

Comments

Popular posts from this blog

प्राचीन भारतीय आर्य भाषा की विशेषताएं

संस्कृत भाषा के शब्द भंडार से सम्बंधित बातें

इम्तिहान